sublayer
sublayer
sublayer

जोहार। नेतरहाट (झारखंड) के असुर समुदाय के सहयोग से 25 मई 2019 से हम शुरू कर रहे हैं यह सेंटर जो असुर समुदाय के वाचिक भाषा-साहित्य, संस्कृति और पारंपरिक ज्ञान के संरक्षण एवं विकास के लिए काम करेगा.

असुर आदिवासी विजडम अखड़ा

अखड़ा और असुर समुदाय की एक अभिनव पहल

sublayer
sublayer
sublayer
sublayer
sublayer
sublayer
sublayer
sublayer
sublayer
sublayer
sublayer

...राज्य सत्ता के दमन और कॉरपोरेट लूट के खिलाफ.घोषणा-पत्र देखें >

sublayer
हम न झुके हैं, न ही कभी झुकेंगे
आदिवासी/देशज समुदाय दो हजार सालों से युद्ध में हैं.

जोहार! देश के आदिवासी/देशज समुदाय कभी नहीं हारे, चाहे मिथक हो, इतिहास हो या कि वर्तमान. हमने घुटने कभी नहीं टेके. चाहे मिथक हो, इतिहास हो या कि वर्तमान. हुलगुलान जिंदाबाद!!

sublayer
sublayer
sublayer
sublayer
sublayer
sublayer
sublayer
sublayer
देशज/आदिवासी साहित्य खरीद कर सपोर्ट करें